Delhi Violence: कोई आपराधिक केस नहीं, 8वीं पास ताहिर हुसैन के पास करोड़ों की संपत्ति


पार्षद ताहिर हुसैन पर अंकित शर्मा की हत्या, दिल्ली में आगजनी करने और हिंसा फैलाने का आरोप है. पुलिस मामले की जांच में जुटी है. 2017 के चुनावी हलफनामे में दावा किया गया कि उनके खिलाफ एक भी आपराधिक केस दर्ज नहीं था.
ताहिर हुसैन पर अंकित की हत्या का आरोप
ताहिर के पास एक कार, एक मोटरसाइकिल
हत्या के मामलों में जांच में जुटी दिल्ली पुलिस
इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) के कर्मचारी अंकित शर्मा की हत्या के मामले के आरोपी ताहिर हुसैन पर दिल्ली पुलिस केस दर्ज कर मामले की जांच में जुटी हुई है. हालांकि हत्या, आगजनी और हिंसा फैलाने के आरोप का सामना कर रहे पार्षद ताहिर हुसैन एक करोड़पति हैं और 2017 के नगर निगम चुनाव के समय दाखिल हलफनामे के अनुसार उनके पास करोड़ों की संपत्ति है.
पिछले निकाय चुनाव में दाखिल हलफनामे के अनुसार उनके पास 15 करोड़ रुपये की प्रॉपर्टी है और उनके पास कुल 17 करोड़ रुपये की पूंजी है. हालांकि 2017 के निकाय चुनाव में आम आदमी पार्टी की ओर से पर्चा दाखिल करने के दौरान उन्होंने जानकारी दी थी कि उनके खिलाफ कोई आपराधिक केस दर्ज नहीं है.
कोई आपराधिक केस नहीं:-
उनके हलफनामे के अनुसार, ताहिर हुसैन एक व्यापारी हैं और उनके पास 15 करोड़ रुपये की अचल संपत्ति है. वह शाहदरा में व्यावसायिक इमारतों के मालिक हैं. उनकी चल संपत्ति 1.75 करोड़ रुपये है. कई बैंकों में उनके 6 बैंक खाते हैं और उन्होंने 3 कंपनियों के शेयरों में निवेश किया है.
हालांकि करोड़पति होने के बावजूद ताहिर हुसैन के पास सिर्फ एक मारुति ओमनी (2012 मॉडल) और एक मोटरसाइकिल है. उन्होंने किसी भी वित्तीय संस्थान से कोई ऋण नहीं लिया है. शपथ पत्र में घोषित उनकी कुल संपत्ति 17.78 करोड़ रुपये है.
इस हफ्ते नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली में हुए दंगों में आईबी के कर्मचारी अंकित शर्मा की हत्या और हिंसा के मामलों में दिल्ली पुलिस जांच कर रही है. ताहिर हुसैन के खिलाफ दिल्ली पुलिस जांच में जुटी है. ताहिर हुसैन पर दिल्ली निगम चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने के समय कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं था.
8वीं तक पढ़े हैं ताहिर हुसैन:-
निकाय चुनाव के दौरान दाखिल हलफनामे के अनुसार, ताहिर हुसैन ने केवल 8वीं कक्षा तक की पढ़ाई की है. उन्होंने इस बात का भी उल्लेख किया कि वे ओपन स्कूल के माध्यम से हाई स्कूल की शिक्षा हासिल कर रहे थे.
पार्षद ताहिर हुसैन पर अंकित शर्मा की हत्या में शामिल होने का आरोप लगा है. उनके खिलाफ हत्या, आगजनी और हिंसा फैलाने का केस भी दर्ज किया गया है. फॉरेंसिक की एक टीम भी शुक्रवार को उस जगह पर पहुंची जहां पर अंकित शर्मा की हत्या हुई थी और वहां से सबूत जुटाए.
सूत्रों का कहना है कि फॉरेंसिक टीम ने अंकित की हत्या के संबंध में कई महत्वपूर्ण सबूत जुटाए हैं. अंकित की हत्या के अलावा, पुलिस ने ताहिर के घर की छत से पेट्रोल बम, एसिड, पत्थर और ईंटें भी जब्त की हैं. आरोप है कि इनका इस्तेमाल हिंसा में हुआ था.
पूछताछ के लिए बुलाया जा सकता है ताहिर को:-
सूत्रों के अनुसार, अंकित शर्मा की हत्या के संबंध में बहुत जल्द ताहिर हुसैन को पूछताछ के लिए बुलाया जा सकता है. हालांकि ताहिर ने सभी आरोपों का खंडन किया है. उनका दावा है कि हिंसा के दौरान अपनी जान बचाने के लिए उन्होंने पुलिस को 2 बार फोन किया था.
दिल्ली हिंसा में नाम सामने आने पर आम आदमी पार्टी के संयोजक और सीएम अरविंद केजरीवाल ने जांच पूरी होने तक ताहिर हुसैन को पार्टी से निलंबित भी कर दिया.

Leave a Reply